Musafir hindi

किताबो का सफरनामा

चक्र का रक्षक

हेलो दोस्तो,आज का जमाना पूरा डिजिटल हो चुका है,व्यक्ति का छोटे से छोटा काम आज इंटरनेट व डिजिटल साइट्स की मदद से घर बैठे हो जाता है बड़े ही आसानी से लेकिन सिक्के के दो पहलू होते है इंटरनेट के फायदे है तो वही नुकसान भी जैसे डेटा चोरी व सायबर क्राइम, तो आज हम इसी टॉपिक पर बनी फिल्म चक्र का रक्षक के बारे में बात करेंगे।यह एक तेलुगु फ़िल्म है जो कि हिंदी भाषा मे उपलब्ध है। यह फ़िल्म 19 फरवरी 2021 को रिलीज हो चुकी है। फ़िल्म के लीड हीरो का किरदार जो कि एक आर्मी अफसर है जो है विशाल और साथ मे श्रद्धा श्रीनाथ व रेगीना केसांद्रा भी देखने को मिलेंगे।फ़िल्म के डायरेक्टर है एमएस आनंदन व प्रोडक्शन कम्पनी विशाल फ़िल्म फेक्टरी है।

फ़िल्म की कहानी के बारे में बात करे तो यह सायबर क्राइम पर आधारित फिल्म है जिसमे स्वतंत्रता दिवस पर भारत मे 49 घरो में चोरी होती है और चोरी करने वाले मास्क के साथ दो इंसान होते है। इस चोरी की वजह से पुलिस डिपार्टमेंट में अफरातफरी मच जाती है इतने घरो में चोरी होने के बावजूद कोई सबूत नही मिलता। गायत्री जो कि असिस्टेंट कमीशनर होती है उसे पता चलता है कि 49 नही बल्कि 50 घरो में चोरी हुई है जो कि चन्द्रू के घर हुई होती है।चन्द्रू एक आर्मी अफसर है। चन्द्रू की दादी चोरी के समय घर पर होती है और अशोक चक्र मेडल जो कि चन्द्रू के स्वर्गवासी पिता को भारत सरकार से मिला सम्मान होता है जिसे बचाने में वो नाकामयाब रहती है और घायल होने की वजह से बेहोश हो जाती है। अब यह चन्द्रू का मिशन है कि कैसे वो अपने पिता का मेडल वापिस लाए और इस केस को सॉल्व करे।

फ़िल्म की कहानी बड़ी ही रोचक है। चन्द्रू का किरदार एक उत्कृष्ठ कर्तव्यनिष्ठ आर्मी अफसर है जो बड़े ही समझदारी से इस केस को सुलजाता है। इस सायबर क्राइम की तह तक पहुँचता है। चन्द्रू यानी कि विशाल की एक्टिंग बढ़िया है। विलेन ने भी अपना किरदार बखूबी निभाया है। यह फ़िल्म सस्पेंस और थ्रिलर से भरपूर है साथ ही कहानी मजेदार है तो जरूर देखिए और साथ ही यह फ़िल्म रिव्यू आपको कैसा लगा यह बताइएगा।धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *