Musafir hindi

किताबो का सफरनामा

हैल्लो दोस्तो, आज हम बात करेंगे फतांसी जॉनर के फेमस लेखक। जिन्होंने धी हॉबिट, धी लार्ड ऑफ रिंग जैसी फेमस कहानियाँ लिखी है। वे इंग्लिश राइटर है साथ ही कवि,फिलोलोजिस्ट व एकेडेमिक्स है जिनका नाम है J.R.R. TOLKIEN। जॉन रोनाल्ड राउल टोल्किन। टोल्किन High Fantasy Writer है। अंग्रेजी भाषा के प्रसिद्ध लेखक एवं कहानीकार।

टोल्किन का जन्म 3 जनवरी 1892 में bloemfontein में हुआ था। उनके पिताजी क्राफ्टमैन थे जो कि घड़ी, पियानो वगेरह बनाकर बेचते थे। टोल्किन के जन्म के 3 साल बाद ही उनके पिता की मृत्यु हो गई। उनकी माता ने ही उनको पाला। महज 4 साल की उम्र से ही उनको पढ़ने का शोख था। बचपन से ही उनको fantasy stories पढ़नी पसंद थी। टोल्किन जब 12 साल की उम्र के थे तब उनकी माता की भी मृत्यु हो गई। जिसके बाद उनके पेरेंट्स के दोस्त के वहाँ वे रहने लगे। बाद में टोल्किन ने ब्रिटिश आर्मी को जॉइन किया।

3 नवम्बर 1920 को उन्होंने आर्मी छोड़ दी और दूसरा काम चालू कर दिया। 1920 में उन्होंने रीडर की पोस्ट जॉइन की जिसके बाद वे यंगेस्ट प्रोफेसर बने। जिसके बाद उन्होंने अंग्रेजी शब्दकोश भी लिखा। जब वे पेम्ब्रोक कॉलेज में जॉब कर रहे थे तब उन्होंने धी हॉबिट और धी लॉर्ड ऑफ रिंग के 2 वॉल्यूम लिखे। 1920 में ही टोल्किन ने Beowulf का ट्रांसलेशन किया जो कि 1926 को पूरा हुआ जो 2014 को पब्लिश किया गया। रिटायरमेन्ट तक आते आते टोल्किन को अपने लिटरेचर के लिए पब्लिक अटेंशन मिलने लगा। वे Nobel prize in literature के लिए अपने दोस्त द्वारा नॉमिनेट भी किए गए।

पब्लिकेशन


● “Beowulf: The Monsters and the Critics”
यह फिक्शन लिखते वक्त टोल्किन एकेडेमिक लिटरेचर के लेखक थे। Beowulf आर्टिकल की तरह पब्लिश हुआ था।
● “On Fairy-Stories”
● “Children’s books and other short works”
टोल्किन ने बच्चो के लिए बहुत कुछ लिखा है जैसे कि “The Father Christmas Letters”, “Mr. Bliss and Roverandom”, “Leaf by Niggle”, “The Adventures of Tom Bombadil”, “Smith of Wootton Major and Farmer Giles of Ham”.
● The Hobbit
● The Lord of the Rings
● The Silmarillion
● Unfinished Tales and The History of Middle-earth

दोस्तों हम देख सकते है कि आर्मी मैन होने के साथ साथ लेखक ने साहित्य को भी उतना ही महत्त्व दिया है। साहित्य अमर है। आज इतने सालों बाद भी टोल्किन द्वारा लिखी गई कहानियों पर फ़िल्म बन चुकी है। आज तक उनकी कहानियों को पढा जाता है। आपको यह जानकारी कैसी लगी यह कमेंट कर जरूर बताएगा। धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *